Union-udget-2020-21-बजट-2020

Budget 2020-21 Summary and Analysis | बजट 2020 विश्लेषण

Table of Contents

Budget 2020-21 [बजट]

Budget 2020 (बजट 2020)

निर्मला सीतारमण जोकि भारत की पहली पूर्ण कालिक महिला वित्तमंत्री हैं, ने एक बार फिर देश का 2020-21 वर्ष के लिए बजट प्रस्तुत किया।

निर्मला सीतारमण ने पिछले साल बजट को एक लाल कपड़े में लपेट कर लाने की परंपरा को प्रारम्भ किया था तब से ही बजट को बहीखाता कहा जाने लगा है, और लाल कपड़े की इस परंपरा को इस साल भी आगे बढ़ाई गयी। बजट(budget) शब्द फ्रेंच भाषा के ‘bougette’ शब्द का रूपांतरण है जिसका अर्थ होता है ‘लेदर बैग’।

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने इस बार बजट पर लगभग 2 घण्टे 41 मिनेट की स्पीच दी, जोकि अपने आप मे एक रिकॉर्ड बन गया है। इससे पहले सब से लंबी बजट स्पीच का रिकॉर्ड मनमोहन सिंह के नाम था। हालांकि तबियत ठीक न होने के कारण मौजूदा वित्तमंत्री अपनी स्पीच पूरी नही कर पायीं।

पिछले साल का बजट चुनाव होने के कारण 5 जुलाई को पेश किया गया था।

इस साल के बजट की थीम “Ease of Living” रहा। जिसका अर्थ है लोग आसानी से जीवन-यापन कर सकें।

इस साल का बजट या यूं कहें कि सरकार की इस वर्ष के लिए योजनाओं को तीन भागों में बांटा गया है।

  • Aspirational India
  • Economic India
  • Caring Society

Budget2020: Aspirational India

बजट के इस भाग को भी तीन भागों में बंटा गया है

  1.  खेती, सिंचाई और ग्रामीण विकास
  2. स्वास्थ्य, स्वच्छता और पानी
  3. शिक्षा और कौशल

Budget-2020: Economic Development

इस भाग के भी निम्नलिखित तीन भाग हैं-

  1. उद्योग/व्यवसाय, व्यापार और निवेश
  2. आधारिक संरचना(infrastructure)
  3. नयी अर्थव्यवस्था

Budget-2020: Caring Society

इस भाग में महिलाओं, बाल और समाज के उत्थान हेतु कल्याणकारी योजनाएं चलाई जाएंगी। इसके तीन मुख्य बिंदु निम्न हैं-

  1. महिला एवं बाल विकास
  2. संस्कृति और पर्यटन
  3. वातावरण और जलवायु परिवर्तन

इस साल बजट के मुख्य बिंदु

  • भारत  विश्व की 5वीं सब से बड़ी अर्थव्यवस्था है।
  • देश की औसतन विकास दर पिछले पांच सालों में 7.4% रहा, और मुद्रास्फीति दर 4.5% रही
  • भारत सरकार का लक्ष्य आने वाले समय मे अर्थव्यवस्था को 5 खरब (5 trillion) बनाने का है जोकि अभी 2.9 खरब है।
  • 2006 से 2016 के बीच लगभग 27 करोड़ व्यक्तियों को गरीबी रेखा से ऊपर उठने में मदद की गई है।
  • 2014 से 2019 के बीच FDI [foreign direct investment] 284बिलियन डॉलर का निवेश किया गया इससे पहले यह 190 बिलियन डॉलर था।
  • 15 वर्ष से 65 वर्ष के व्यक्तियों की संख्या भारत मे सर्वाधिक है, भारत इस मामले में चीन से आगे है।
  • इस बजट में सरकार ने GST(Goods and Services Tax) को एक बड़ी सफलता बताया है।

बजट-2020: सरकार के आने वाले समय के लिए मुख्य लक्ष्य

भविष्य में सभी सरकारी सुविधाओं को जनता तक पहुचने के लिए डिजिटल गवर्नेन्स को अपनाया जाएगा।

व्यक्तियों का जीवन स्तर सुधारने के लिए राष्ट्रीय बुनियादी ढांचा(National Infrastructure Pipeline) को  किया जाएगा।

Budget-2020: पैसा कहाँ कहाँ से आता है-

सरकार के राजस्व का सब से बड़ा स्रोत उधार और अन्य देयताएं हैं, जोकि कुल राजस्व का 20% हैं।

उसके बाद दूसरे स्थान पर 18% के साथ वस्तु एंव सेवा कर(GST) है। और 18% ही निगम कर का राजस्व में योगदान है।

तथा 17%  योगदान के साथ आय कर चौथे स्थान पर है।

Budget 2020 | बजट 2020

Budget-2020: पैसा कहाँ कहाँ जाता है-

सरकार का सर्वाधिक पैसा 20% राज्य सरकारों को ‘कर व शुल्क’ के रूप में चला जाता है।

दूसरे स्थान पर ‘ब्याज अदायगी’ के रूप में 18% रुपए खर्च हो जाते हैं। तथा तीसरे स्थान पर केंद्रीय सरकार की योजनाओं हेतु 13% खर्च होता है।

इस बार के बजट का 8% सरकार ‘रक्षा बजट’ पर खर्च करेगी।

बजट-2020: वित्तीय क्षेत्र से संबंधित मुख्य बिन्दु

  • यदि बैंक डूब जाता है तो ‘डिपाजिट इन्सुरेंस’ को 1 लाख से बढ़ा कर 5 लाख कर दिया गया है।
  • IDBI बैंक की बची हुई हिस्सेदारी को बेचने की बात कही गयी है।
  • ‘वस्तु एंव सेवा कर(GST) रिटर्न्स’ को सरल कर दिया गया है।
  • सभी ‘चैरिटी इंस्टीट्यूट’ को एक अलग रजिस्ट्रेशन नम्बर दिया जाएगा जिससे उनके लिए टैक्स छूट में आसानी हो सके।
  • Dividend Distribution Tax(DDT) को हटा दिया गया है।

Aspirational India: Budget-2020

भारत सरकार ने इस बजट में किसानों के लिए 16 बिंदुओं पर बात की गई। इनमें से प्रमुख बिंदु निम्नवत हैं-

  • किसानों की आय बढ़ाने का लक्ष्य
  • Blue Economy
  • Storage
  • Animal Husbandry

सभी 16 बिंदुओं के लिए कुल 2.83 लाख करोड़ रुपए की राशि आवंटित की जाएगी। जिसमें से 1.6 लाख करोड़ ‘खेती और सिंचाई‘ संबंधित वितरित किये जायेंगे।

1.23 लाख करोड़ रुपए ग्रामीण विकास और पंचायत विकास हेतु आवंटित किए जाएंगे।

Blue Economy (Budget-2020)

भारत सरकार ने 2024-25 तक एक लाख करोड़ ‘मछली पालन’ निर्यात करने का लक्ष्य रखा है।

2022-23 तक 200 लाख टन मछली उत्पादन का लक्ष्य है, व 3477 ‘सागर मित्र’ और 500 मछली उत्पादक संस्थाओं व किसानों को Blue Economy से जोड़ने का लक्ष्य है। साथ ही साथ युवाओं को भी ब्लू इकॉनमी से जोड़ने के लिए प्रेरित करना है।

किसान रेल: KISAN RAIL

भारतीय रेल National Cold Supply Chain का निर्माण करेगी, जिससे ऐसे खाद्य पदार्थ जोकि जल्दी खराब हो जाते हैं जैसे: दूध, मांस, और मछली आदि को रेफ्रिजरेटर वाली ट्रेन द्वारा एक स्थान से दूसरे स्थान आवाजाही के लिए ‘किसान रेल’ का आरम्भ किया जाएगा।

कृषि उड़ान: KRSHI UDAN

ईस योजना के अंतर्गत कृषि से उत्पन्न प्रोडक्ट्स को हवाई मार्ग द्वारा देश और विदेश की बड़ी मार्केट तक पहुचाया जाएगा। यह योजना मुख्यतः उत्तर-पूर्वी राज्यों व आदिवासी जिलों को ध्यान में रखते हुए बनायी गयी है।

एक जिला एक उत्पाद: One Product One District

इस पूर्व योजना को और अधिक अच्छा किया जाएगा। और इस योजना के तहत जैविक खेती बढ़ावा दिया जाना है। जिसके लिए javik kheti portal को ओर अधिक सक्षम किया जाएगा।

Zero budget natural farming का एक बार फिर से जिक्र किया गया।

PM-KUSUM योजना को ओर बढ़ाया जाएगा। इस योजना के तहत 20 लाख नय किसानों को सौलर पंप दिए जाएंगे, व 15 लाख ऐसे किसान जिनके पास पंप सेट है उनको सौलर किया जाएगा।

किसान बंजर खेतो में सौलर सेट लगा कर बिजली उत्पादन कर बेच सकेंगे।

बजट 2020 : Village Storage Scheme

ग्रामीण या तहसील लेवल पर warehouse का निर्माण कराया जाएगा। जहाँ पर किसान अपने आनाज को स्टोर कर सकेगा और डायरेक्ट वहाँ से ही उनको खरीद व बेच भी सकेगा।

इन Warehouses को NABARD मैप पर Geo-टैग करेगा।

बजट 2020: पशुधन: Livestock

दूध उत्पादन 2025 तक 108 मिलियन मिट्रिकटन करने का लक्ष्य रखा गया है जोकि अभी 53.5 मिलियन मिट्रिकटन है।

चारा मैदान(Fodder Farms) के निर्माण के लिए MNREGS का इस्तेमाल किया जाएगा।

ऊंट की Foot & Mouth Disease व Brucellosis और भेड़ व बकरियों की Peste Despetits[PPR] बीमारियों को 2025 तक समाप्त करने का लक्ष्य रखा गया है।

बजट 2020: स्वास्थ्य देखभाल और कल्याण(Healthcare and Wellness)

  • स्वास्थ्य सम्बन्धित योजनाओं हेतु 69000 करोड़ रुपए वितरित किये जायेंगे।
  • 6400 करोड़ रुपए PM Jan Arogya Yojana(PMJAY) हेतु दिए जाने हैं।
  • मशीन लर्निंग और AI(artificial intelligence) की सहायता से बीमारियों का पता लगाया जाएगा व इनका इलाज किया जाएगा।
  • TB को 2025 तक  खत्म करने का लक्ष्य रखा गया है और “TB हारेगा, देश जीतेगा” स्लोगन दिया गया है।
  • “जल जीवन मिशन योजना” के लिए 3.60 लाख करोड़ रुपए वितरित किये जायेंगे।

बजट 2020 : स्वच्छता: Sanitation

स्वच्छ भारत मिशन का बजट पिछले साल 9636 करोड़ रुपए था जोकि इस साल 2020-21 के लिए बढ़ा कर 12,294 करोड़ रुपए कर दिया गया है।

2020-21 तक 12,300 करोड़ रुपए “स्वच्छ भारत मिशन” के लिए दिए जाएंगे।

ODF[Open Defecation] खुले में शौच मुक्त भारत के लिए प्रॉपर प्लानिंग।

बजट 2020: शिक्षा और कौशल

इस वर्ष 99,300 करोड़ रुपए शिक्षा क्षेत्र पर खर्च करने का लक्ष्य है व 3000 करोड़ रुपए कौशल विकास पर खर्च किये जाने का लक्ष्य भारत सरकार ने तय किया है।

  • बजट में कहा गया है कि एक नयी शिक्षा नीति (Education Policy) जल्द ही लायी जाएगी।
  • पुलिस को स्पेशल ट्रेनिंग देने के लिए National Police University और National Forensic Science University का गठन किया जाएगा।

Budget 2020: उघोग, व्यापार और निवेश (Industry, Commerce & Investment)

  1. निवेश और औद्योगिक विकास के लिए भारत सरकार द्वारा 27,300 करोड़ रुपए वितरित किये जाने का लक्ष्य रखा है।
  2. मोबाइल फ़ोन, इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स, व सेमि कंडक्टर आदि को स्वेदश में बनाने पर बल दिया जाएगा।
  3. National Technical Textiles Mission अगले 4 साल के लिए चलाया जाएगा।
  4. पूर्व में प्रधानमंत्री द्वारा दिये गए नारे Zero Defect Zero Effect उत्पादन को फिर से दोहराया गया।

बजट 2020: National Infrastructure Pipeline

नेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन के लिए 100 लाख करोड़ रुपए का बजट रखा गया है। इस प्रोजेक्ट में लगभग 65 अन्य प्रोजेक्ट होंगे जिन्हें फण्ड किया जाएगा, ये सभी प्रोजेक्ट्स जीवन स्तर (ease of living) सुधारने में सहायक होंगे। इन प्रोजक्ट में सबसे अधिक खर्च Roads पर किया जाना है। 

कुछ मुख्य प्रोजेक्ट्स निम्न हैं:-

  1. Rural Infrastructure
  2. Irrigation
  3. Renewable Power
  4. Conventional Power
  5. Railways
  6. Urban and Housing
  7. Roads

बजट 2020: NIRVIK Scheme

निर्यात व्यापारियों के लिए  NIRVIK योजना की शुरुआत की जाएगी। इस योजना से निर्यातकर्ताओं को निर्यात करने में सुविधा हो जाएगी।

  • 1.7 लाख करोड़ रुपए आने वाले समय मे यातायात पर खर्च किये जायेंगे।
  • 2024 तक उड़ान योजना के तहत 100 नये एयरपोर्ट का निर्माण कराया जाएगा।
  • भारत के 10 सबसे बड़े बंदरगाहों में से किसी एक का Privatization कर दिया जाएगा।

बजट 2020: Railways

सौर ऊर्जा उत्पादन बढ़ाने के लिए रेलवे ट्रैक के दोनों ओर खाली जगह पर सौलर पैनल लगाये जायेंगे।

चार बड़े स्टेशन्स का पुनरुत्थान(Re-Development) किया जाएगा।

150 पैसेंजर ट्रैन PPP मोड पर चलाई जाएंगी। व तेजस की तरह तेज ट्रैन ओर अधिक लायी जाएगी।

बजट 2020: POWER SECTOR

  • पुराने मीटर्स को बदल कर नये आधुनिक मीटर्स लगाए जाएंगे।
  • 22,000 करोड़ रुपए ऊर्जा क्षेत्र में निवेश किये जायेंगे।
  • राष्ट्रीय गैस ग्रिड जोकि अभी 16200 किमी है को बढ़ा कर 27000 किमी करने का लक्ष्य है।

Budget 2020: समाज कल्याणकारी योजनाएं

  • ममहिलाओं से सम्बन्धित योजनाओं हेतु 28600 करोड़ रुपए का बजट रखा गया है।
  • पोषण सम्बन्धित योजनाओं के लिए रुपए का बजट आवण्टित किया गया है।
  • 6 लाख आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन दिया जाएगा।
  • मिनिस्ट्री ऑफ हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स द्वारा नालों व सीवर की सफाई के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाएगा ताकि सफाई करते हुए जहरीली गैस से लोगो की मृत्यु को कम किया जा सके।
  • अनुसूचित जाति और अन्य पिछड़ा जाति के लिए 85,000 करोड़ रुपए के बजट के घोषणा की गई।
  • अनुसूचित जनजातियों के लिए 53700 करोड़  रुपए के बजट की घोषणा की गई है।
  • दिव्यांग और सीनियर सिटीजन के लिए 9500 करोड़ रुपए का बजट प्रस्तावित किया गया है।

बजट 2020: संस्कृति और पर्यटन: Culture and Tourism

भारतीय सरकार संस्कृति और पर्यटन के लिए Indian Institute of Heritage and Conservation बनाएगी। हरियाणा के राखीगढ़ी, उत्तर प्रदेश के हस्तिनापुर, असम के शिवसागर, गुजरात के धोलावीरा और तमिलनाडु के अडिचन्नालूर में म्यूजियम का निर्माण कराया जाएगा।।

बजट 2020: National Recruitment Agency[NRA]

परीक्षा भर्तियों में चल रहे घोटालों को खत्म करने के लिए व परीक्षा में पारदर्शिता लाने के लिए सरकार सभी परीक्षाओं के लिए एक Common Eligibility Test जोकि कंप्यूटर आधारित होगा करने के लिए National Recruitment Agency का गठन किया गया है। इसके लिए प्रत्येक जिले में एक परीक्षा केंद्र होगा।

अगली पोस्ट “भारत का इतिहास” पढ़ने के लिए क्लिक करें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *